अपनी रचनाएं प्रकाशित कराएं, बिल्कुल मुफ़्त!

आप सभी के प्रेम के लिए हम बहुत आभारी हैं। हमें उम्मीद है कि आप और आपके प्रिय जन कुशल मंगल होंगे।

क्या आप अपने लेख पब्लिश कराना चाहते हैं और आपको कोई प्लेटफॉर्म नहीं मिल रहा? चिंता की कोई बात नहीं।

दिल खोलकर लिखें क्योंकि PoemGyan करेगा आपकी रचनाओं को पब्लिश। 

हमें यह बताते हुए बेहद खुशी हो रही है कि अब आप अपनी रचनाएं PoemGyan पर प्रकाशित कर सकते हैं।

खास बात ये है कि इसके लिए आपसे कोई पैसे भी नहीं लिए जाएंगे! 

अपनी रचनाएं, कविताएं और कहानियां, काव्य संग्रह, बाल कहानी, निबंध आदि पब्लिश कराने के लिए, हमसे संपर्क करें, अभी

अपनी रचनाएं हमें इस ईमेल पते पर भेजें: 

आपकी रचना प्रकाशित होने की सूचना, आपको ईमेल के जरिए दे दी जाएगी। 

आप उसे अपने फ्रेंड्स औ हर फैमिली के साथ WhatsApp, Facebook और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर कर सकते हैं!

तो देर किस बात की, अपने भीतर का लेखक जगाइये और अपनी बेहतरीन रचनाएं हमें अभी भेजिये!

नियम और शर्तें- 

  • आप जो भी रचना हमें भेजें, वह आपकी अपनी हो। किसी अन्य व्यक्ति की रचना को अपनी बताकर भेजने पर, आपके खिलाफ़ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।
  • किसी भी तरह की रचना हमें भेजने से पहले उसे अच्छी तरह पढ़ें और देखें कि उसमें व्याकरण, स्पैलिंग वगैरह की गलती न हो। रचना में ज़्यादा गलतियां होने पर उसे प्रकाशित नहीं किया जाएगा।
  • आप हमें विभिन्न विषयों पर कविता, कहानी, निबंध, फ़ीचर, आर्टिकल लिख कर भेज सकते हैं। साथ ही, साहित्यिक, सामाजिक, राजनैतिक, आध्यात्मिक विषयों पर लेख लिख कर भी भेज सकते हैं। कृपया ध्यान दें, विवादित मुद्दों पर लिखी गई रचनाएं प्रकाशित नहीं की जाएंगी।
  • अगर आपकी कोई रचना इंटरनेट पर कहीं भी प्रकाशित की जा चुकी है, तो उसे दोबारा प्रकाशित करने के लिए न भेजें।
  • केवल ऐसी रचनाएं ही प्रकाशित की जाएंगी, जो इंटरनेट पर कभी प्रकाशित नही हुई हैं।
  • कृपया इस बारे में स्पष्ट रहें कि किसी भी रचना को प्रकाशित करने के बदले में आपको कोई भुगतान नहीं किया जाएगा और न ही आपसे कोई शुल्क लिया जाएगा।
  • किसी भी रचना को प्रकाशित करने का अंतिम निर्णय पोएमज्ञान का ही होगा।

अगर आप PoemGyan पर नए हैं, तो हम आपको बताना चाहेंगे कि PoemGyan, हिन्दी और अंग्रेज़ी कविताओं के अर्थ और व्याख्या का सबसे बेहतर प्लेटफ़ॉर्म है।

हम आपके लिए इसी तरह कविताओं के भावार्थ (पोएम समरी) आसान भाषा में लिखते रहेंगे।

हमारी कोशिश यही रहती है कि कम शब्दों में आपको पूरी कविता समझा सकें, ताकि आप कविता को आसानी से समझ पाएं।