NCERT Solutions for Class 10 Hindi Sparsh Chapter 8 – कर चले हम फिदा 

(क) निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिये:

kar chale ham fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

1- क्या इस गीत की कोई ऐतिहासिक पृष्ठभूमि है?

उत्तर: जी हां, इस गीत के पीछे बहुत बड़ी ऐतिहासिक घटना छिपी है, इसे सन 1964 में भारत-चीन युद्ध की पृष्ठभूमि में लिखा गया था। ये गीत उस समय सैनिकों के बलिदान और त्याग को बताता है, जब चीन ने हिमालय पर कब्ज़ा करने की कोशिश की थी।

 

kar chale ham fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

2- ‘सर हिमालय का हमने न झुकने दिया’ इस पंक्ति में हिमालय किस बात का प्रतीक है?

उत्तर: हिमालय को भारत माता के सिर का ताज माना जाता है। ऐसे में हिमालय पर किसी दुश्मन का कब्ज़ा हो जाने का मतलब है, भारत माँ का सर झुकना और उनकी इज़्ज़त कम होना। इसलिए हमारे वीर जवान इस पंक्ति में कहते हैं कि हमने भारत माँ यानि हिमालय का सिर नहीं झुकने दिया, अर्थात उस पर दुश्मनों का कब्ज़ा नहीं होने दिया।

 

kar chale ham fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

3- इस गीत में धरती को दुल्हन क्यों कहा गया है?

उत्तर: भारत देश में पारंपरिक तरीके से दुल्हन को लाल चुनरी पहनाई जाती है। कवि को लगता है कि शहीदों के खून से धरती का रंग लाल हो गया है, जिससे ऐसा लग रहा है, मानो हमारी मातृभूमि लाल रंग की चुनरी ओढ़े बैठी कोई दुल्हन बन गयी है। इसीलिए इस गीत में धरती को दुल्हन कहा गया है।

 

kar chale hum fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

4- गीत में ऐसी क्या ख़ास बात होती है कि वे जीवन भर याद रह रह जाते हैं?

उत्तर: गीत में भावनात्मकता, संगीतात्मकता, लयबद्धता और गेयता आदि गुण होते हैं, जिनके कारण वह हमारे दिल में बस जाता है और हमें जीवन भर याद रह जाता है। ‘कर चले हम फ़िदा‘ गीत में देशभक्ति और बलिदान की भावना स्पष्ट दिखाई देती है, जिससे ये गीत हर हिंदुस्तानी के दिमाग पर छा गया है।

 

kar chale hum fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

5- कवि ने ‘साथियों’ सम्बोधन का प्रयोग किसके लिए किया गया है ?     

उत्तर: कवि ने ‘साथियों’ शब्द का प्रयोग हमारे वीर सैनिकों और सभी देशवासियों के लिए किया है।

 

kar chale hum fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

6- कवि ने इस कविता में किस काफ़िले को आगे बढ़ाते रहने की बात कही है?

उत्तर: कवि ने इस कविता में हमारे वीर सैनिकों के काफ़िले को आगे बढ़ाते रहने की बात कही है। कविता में सैनिक कहते हैं कि यदि वे शहीद हो जाएँ तो भी ये जंग रुकनी नहीं चाहिए। चाहे लाखों कुर्बानियाँ देनी पड़ें, लेकिन हमें अपनी धरती मां के सिर के ताज यानि हिमालय को बचाना होगा। 

 

kar chale hum fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

7- इस गीत में ‘सर पर कफ़न बाँधना‘ किस ओर संकेत करता है?

उत्तर: ‘सर पर कफ़न बाँधना‘ का अर्थ है- मौत के लिए तैयार होना। सैनिक अपने अंतिम पलों में अपने बाकी साथियों को सर पर कफ़न बाँधने अर्थात शहीद होने हेतु तैयार होने के लिए कहता है। उसने देश की रक्षा में अपने प्राण त्याग दिए हैं और अब देश की रक्षा का भार उसके साथियों के कंधों पर है।

 

kar chale hum fida ncert solutions for class 10 hindi sparsh

8- इस कविता का प्रतिपाद्य अपने शब्दों में लिखिए।

उत्तर: प्रस्तुत कविता में देश के सैनिक की भावनाओं का वर्णन है। सैनिक कभी भी देश के मान-सम्मान को बचाने से पीछे नहीं हटेगा। फिर चाहे इसके लिए उसे अपनी जान से ही हाथ क्यों ना धोना पड़े। सैनिक चाहता है कि वो अपनी जान देश की रक्षा में न्यौछावर कर दे। उसके शहीद होने के बाद उसके साथी देश की रक्षा करते रहें और यह क्रम कभी भी ना टूटे। इस तरह कविता में वीर सैनिक मरते दम तक अपने देश की रक्षा करना चाहता है। 

 

ncert solutions for class 10 hindi sparsh chapter 8 – कर चले हम फिदा

(ख) निम्नलिखित का भाव स्पष्ट कीजिए –

(1) साँस थमती गई, नब्ज़ जमती गई 

    फिर भी बढ़ते कदम को न रुकने दिया

उत्तर – इन पंक्तियों में कवि ने भारतीय सेना के जवानों के साहस का वर्णन किया है। कवि कहता है कि भारत-चीन युद्ध के दौरान सैनिकों को गोलियाँ लगने के कारण उनकी साँसें रुकने वाली थी, जंग के मैदान में इतनी ठण्ड थी कि इसके कारण उनका खून जम रहा था, परन्तु उन्होंने किसी चीज़ की परवाह न करते हुए दुश्मनों का बहादुरी से मुकाबला किया और उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया।

 

ncert solutions for class 10 hindi sparsh chapter 8 – कर चले हम फिदा

(2) खींच दो अपने खूँ से जमीं पर लकीर 

   इस तरफ आने पाए न रावन कोई

उत्तर – इन पंक्तियों में सैनिक अपनी मातृभूमि को सीता माँ की तरह मानता है और अपने साथियों से कहता है कि तुम सब अपने खून से ऐसी लक्ष्मण रेखा खींच लो, जिसे कोई दुश्मन रूपी रावण कभी पार ना कर सके और हमारी सीता जैसी पवित्र धरती माँ को हाथ भी न लगा सके। 

 

ncert solutions for class 10 hindi sparsh chapter 8 – कर चले हम फिदा

(3) छू न पाए सीता का दामन कोई 

   राम भी तुम, तुम्हीं लक्ष्मण साथियो

उत्तर – इन पंक्तियों में सैनिक अपने साथियों से कहता है कि वो बस अब नहीं लड़ पाएगा। अपने प्राण त्यागते हुए वो धरती को अलविदा कह रहा है। इस दौरान वो अपने सैनिक साथियों से कहता है कि हमारे देश की धरती सीता माँ की तरह पवित्र है, इस पर किसी भी हाल में दुश्मन को कदम मत रखने देना। जिस तरह राम और लक्ष्मण जी ने सीता माँ की रक्षा की थी, ठीक वैसे ही अब तुम्हें अपनी धरती माँ की रक्षा करनी है।