Ghar Me Wapsi Class 11 Chapter 19 Hindi Antra Question Answer

घर में वापसी कविता क्लास 11 अंतरा पाठ 19 प्रश्न अभ्यास –  सुदामा पांडे (धूमिल)

घर में वापसी प्रश्न 1. घर एक परिवार, परिवार में पाँच सदस्य हैं, किंतु कवि पाँच सदस्य नहीं उन्हें पाँच जोड़ी आँखें मानता है। क्यों?
उत्तर – कवि के परिवार में कुल 5 सदस्य और इन पांचों सदस्यों को कवि ने कविता में 5 जोड़ी आंखें माना है क्योंकि कवि का जो परिवार था, वह बहुत ही अभाव वाला परिवार था। वहां पर लोगों की जरूरतें पूरी नहीं होती थीं। सब एक-दूसरे की ज़रूरतों को जानते थे।

मगर जुबान से नहीं कहते थे कि हमें यह चाहिए, वह चाहिए। बस आंखों-आंखों में ही उनकी बातें हो जाती थी और वह समझ जाते थे कि किसको क्या चाहिए। इसलिए वे कहते हैं कि हमारा घर एक परिवार है और हमारे परिवार के सदस्य जो है वह सदस्य नहीं है बल्कि 5 जोड़ी आंखें हैं।

घर में वापसी प्रश्न 2. ‘पत्नी की आँखें आँखें नहीं हाथ है, जो मुझे थामे हुए हैं’ से कवि का क्या अभिप्राय है?
उत्तर – पत्नी को हम दूसरे शब्दों में अर्धांगिनी या जीवनसाथी भी कहते हैं। इसलिए कवि ने अपनी पत्नी की आंखों को आंख नहीं, हाथ बताया है। उनकी पत्नी जीवन के हर मोड़ पर उनके साथ खड़ी होती है और हमेशा उनको सही दिशा-सही मार्ग बतलाती है, जैसे कि उनके जीवन के लिए क्या सही है और क्या गलत है। कवि हमेशा उनके बताए हुए रास्ते पर चलते थे।

इसलिए अपनी पत्नी को कवि बहुत ज्यादा मानते थे और वह अपनी पत्नी की आंखों को आंख नहीं, बल्कि हाथ मानते थे, जो हमेशा सही रास्ता दिखाते थे। सही रास्ते की ओर लेकर जाते थे और उन्हें उनकी मंजिल तक पहुंचाते थे।

घर में वापसी प्रश्न 3. ‘वैसे हम स्वजन हैं, करीब हैं …………….. क्योंकि हम पेशेवर गरीब हैं’ से कवि का क्या आशय है? अगर अमीर होते तो क्या स्वजन और करीब नहीं होते?
उत्तर – कवि ने यह बताने का प्रयास किया है कि हम पेशेवर गरीब है यानी हम वह गरीब है जो कभी भी करोड़ों रुपया कमा नहीं सकते। हमारे पास एक ही चीज है, वह है परिवार का साथ। हर इंसान पैसों के पीछे भागता है और पैसा इंसान को लालची बना देता है। इस तरह लालच इंसान को जीते जी मार कर रख देता है। जो इंसान गरीब होता है, उसके पास तो पैसे ही नहीं होते।

इसलिए उनमें लालच भी नहीं होता है और वह एक शांत मौत मरते हैं। कवि कहते हैं कि अगर हम भी गरीब न होकर अमीर होते, तो शायद हम कभी भी परिवार में इतने करीब नहीं होते। कवि के अनुसार, जो लोग अमीर होते हैं, वो पैसों के पीछे भागते हैं। उनका परिवार कभी भी एक साथ बैठकर न खाना खाता है और न ही बात करता है।

वह सिर्फ पैसों के बारे में सोचता है। पैसा ही उनके जीवन के लिए सब कुछ हो जाता है। जबकि हमारे परिवार में ऐसा नहीं है, क्योंकि हम पेशेवर गरीब हैं और सालों से हम ऐसे ही जीते आ रहे हैं।

घर में वापसी प्रश्न 4. ‘रिश्ते हैं; लेकिन खुलते नहीं’– कवि के सामने ऐसी कौन सी विवशता है जिससे आपसी रिश्ते भी नहीं खुलते हैं?
उत्तर – रिश्ते हैं लेकिन खुलते नहीं है यानी कि परिवार के सब सदस्यों का हर एक सदस्य से कुछ न कुछ रिश्ता है। कोई किसी की मां है, कोई किसी की बेटी है, कोई किसी का पिता है, कोई किसी का पति है, तो कोई किसी का बेटा है। मगर सब अपने-अपने रिश्तों से परिचित होते हुए भी अपने रिश्ते से अनजान रहते हैं।

कोई किसी से बातचीत नहीं करता है, क्योंकि उनकी गरीबी ने उनको ऐसा बना दिया है। कोई भी एक-दूसरे से कुछ भी कहना नहीं चाहता है। बस सब आंखों-आंखों से एक-दूसरे की परेशानी को समझते हैं। मगर उसे व्यक्त नहीं करते हैं।

Tags:
घर में वापसी कविता प्रश्न अभ्यास
ghar me wapsi Solution
ghar me wapsi question answer