ncert solutions for class 9 hindi kshitij chapter 17

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न अभ्यास 

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न 1. कविता की पहली दो पंक्तियों को पढ़ने तथा विचार करने से आपके मन-मस्तिष्क में जो चित्र उभरता है उसे लिखकर व्यक्त कीजिए।
ncert solutions class 9 उत्तर: कविता की पहली पंक्तियां निम्न हैं―

“कोहरे से ढँकी सड़क पर बच्चे काम पर जा रहे हैं
सुबह सुबह”

इन्हें पढ़कर और इन पर विचार करने से हमारे मन-मस्तिष्क में दिल को झकझोर कर रख देने वाला दृश्य उभर कर सामने आता है। इस दृश्य में सुबह की ठंड में ठिठुरते हुए दो नन्हे बच्चे काम पर जा रहे हैं। उनसे उनका बचपन छिन चुका है या छीन लिया गया है, जिसके चलते उन्हें बाल मजदूर बनने पर मजबूर होना पड़ा। 

एक ही सवाल हमारे मन में घूमता है, आखिर हम कब इतने उन्नत और समझदार बनेंगे कि इन बच्चों को बालश्रम से मुक्ति दिलवाकर उनका बचपन लौट सकें। हम सही मायनों में विकसित तभी होंगे, जब हमारे देश का हर एक बच्चा बाल मजदूरी करने के बजाय स्कूल जाएगा और अपना बचपन जी पाएगा, अपने सभी सपनों को साकार कर पाएगा।

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न 2. कवि का मानना है कि बच्चों के काम पर जाने की भयानक बात को विवरण की तरह न लिखकर सवाल के रूप में पूछा जाना चाहिए कि ‘काम पर क्यों जा रहे हैं बच्चे?’ कवि की दृष्टि में उसे प्रश्न के रूप में क्यों पूछा जाना चाहिए ?
ncert solutions class 9 उत्तर: कवि बच्चों के काम पर जाने की बात को विवरण की तरह ना लिख कर, एक प्रश्न की तरह पूछा जाना चाहिए। उनके अनुसार ऐसा इसलिए किया जाना चाहिए क्योंकि किसी बात का विवरण देने का अर्थ है, उसे सामान्य मानकर उसकी जानकारी लोगों को देना। विवरण पर लोग ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और इससे उनका कोई भावनात्मक जुड़ाव नहीं होता है। 

बच्चों का काम पर जाना गहरी चिंता का विषय है। उनकी इस दशा के हम सभी जिम्मेदार हैं। इसलिए इसे सवाल की तरह ही पूछा जाना चाहिए। प्रश्न के प्रति हमारे मन में जिज्ञासा, चिंता और रुचि जैसी भावनाएं जुड़ी होती हैं। कवि चाहते हैं कि हम सभी इस समस्या की गहराई पर ध्यान दें और इसे सुलझाने पर ध्यान दें। तब ही बच्चों के काम पर जाने की समस्या हल होगी और नन्हें बच्चे अपना बचपन खुशी से जी पाएंगे।

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न 3. सुविधा और मनोरंजन के उपकरणों से बच्चे वंचित क्यों हैं?
ncert solutions class 9 उत्तर: आज भी बच्चे सुविधा और मनोरंजन के उपकरणों से वंचित हैं क्योंकि गरीबी हमारे समाज में बड़े पैमाने पर फैली है। इसी गरीबी के अभिशाप की वजह से बच्चों को उनकी जरूरत तक की वस्तुएं नहीं मिल पाती हैं। उन्हें अपने सपनों और कोमल बचपन को कुचल कर मजबूरी व हालातों के चलते मजदूरी करनी पड़ती है। उनके माता-पिता के पास भी उन्हें पढ़ाने-लिखाने, उनके लिए खेलकूद का सामान खरीदने तक के पैसे नहीं होते हैं। इसलिए बच्चे सुविधा और मनोरंजन के साधनों से वंचित हैं।

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न 4. दिन-प्रतिदिन के जीवन में हर कोई बच्चों को काम पर जाते देख रहा/रही है, फिर भी किसी को कुछ अटपटा नहीं लगता। इस उदासीनता के क्या कारण हो सकते हैं?
ncert solutions class 9 उत्तर: अपने दैनिक जीवन में हम सभी बच्चों को काम पर जाते देखते हैं, मगर फिर भी हम इस समस्या के प्रति उदासीन बने रहते हैं। इस उदासीनता की कुछ प्रमुख वजहें निम्न हो सकती हैं:

  • लोग बच्चों को काम पर जाता देखने के इतने आदी हो गए हैं कि उन्हें अब यह सामान्य लगता है।
  • लोग बहुत ज्यादा संवेदनहीन हो गए हैं, उन्हें अब नन्हें बच्चों के मजदूरी करने से कोई फर्क नहीं पड़ता है।
  • जिम्मेदारी का एहसास ना होने या कम जागरूक होने की वजह से उन्हें ऐसा लगता है कि ये तो सरकार का काम है, उनकी जिम्मेदारी नहीं है।
  • लोग अपनी ज़िंदगी की परेशानियों में इस कदर खोए हुए हैं कि उनका ध्यान दूसरों की तकलीफ़ की तरफ जा ही नहीं पाता है।
  • लोग बच्चों से कम पैसों में अच्छा काम करवा लेते हैं, इसलिए वो इसके ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने में दिलचस्पी नहीं रखते हैं।

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न 5. आपने अपने शहर में बच्चों को कब-कब और कहाँ-कहाँ काम करते हुए देखा है?
ncert solutions class 9 उत्तर: हमने अपने शहर में कई जगहों पर बच्चों को काम करते देखा है। जैसे, घरों, छोटे-मोटे होटल, चाय इत्यादि की दुकानों, निजी कार्यालयों आदि। यहाँ बच्चे बर्तन-झाड़ू, साफ-सफाई से लेकर भारी वजह ढोने तक का काम करते हैं। कई बच्चे हाथों में प्लास्टिक के थैले लेकर कचरा बीनते हुए भी देखे जाते हैं।

बच्चे काम पर जा रहे हैं प्रश्न 6. बच्चों का काम पर जाना धरती के एक बड़े हादसे के समान क्यों है?
ncert solutions class 9 उत्तर: कवि के अनुसार, बच्चों का काम पर जाना धरती के एक बड़े हादसे की तरह है क्योंकि उनका बचपन बर्बाद हो रहा है और उनके प्रति अन्याय हो रहा है। काम करने और पढ़-लिख नहीं पाने की वजह से बच्चों का भविष्य अंधकार में डूब जाता है। बच्चे ही देश का भविष्य होते हैं, जब उनका भविष्य ही अंधकारमय होगा, तो देश आगे कभी बढ़ ही नहीं पाएगा। इसलिए उनका काम करने जाना किसी हादसे से कम नहीं है। हमें इसे रोकना होगा और बच्चों को उनका बचपन जीने का हक़ देना होगा।

Tags:
ncert solutions for class 9 hindi
ncert solution of class 9 hindi kshitij
hindi ncert solution class 9 kshitij
class 9 hindi ncert solutions kshitij
class 9 hindi solutions kshitij
ncert solution of class 9 kshitij
class 9 hindi kshitij solution
ncert solutions for class 9 hindi kshitij
ncert kshitij class 9 solutions
ncert solution of kshitij class 9
ncert solution class 9 hindi kshitij
kshitij class 9 solution
hindi kshitij class 9 solutions
ncert solutions for class 9 kshitij