Sangatkar Ncert Solutions Class 10 Hindi Kshitij Chapter 9

संगतकार प्रश्न अभ्यास

संगतकार प्रश्न 1. संगतकार के माध्यम से कवि किस प्रकार के व्यक्तियों की ओर संकेत करना चाह रहा है?

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- जिस तरह से किसी इमारत को मजबूत बनाने में नींव का अहम योगदान होता है, उसी प्रकार किसी व्यक्ति को सफल बनाने में कई लोगों का योगदान होता है। मगर, जिस तरह लोग केवल इमारत की सुंदरता की तारीफ करते हैं, लेकिन यह नहीं देखते हैं कि इमारत को खड़ा करने में जमीन के अंदर दबी नींव का अहम योगदान है, उसी तरह लोग केवल सफल और प्रसिद्ध लोगों की तारीफ करते हैं, लेकिन उन्हें सफल बनाने में किन का हाथ है, यह जानने में लोगों की रुचि नहीं होती। संगतकार के माध्यम से कवि उन्हीं व्यक्तियों की ओर संकेत करना चाह रहे हैं।

संगतकार प्रश्न 2. संगतकार जैसे व्यक्ति संगीत के अलावा और किन-किन क्षेत्रों में दिखाई देते हैं ?

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- संगतकार जैसे व्यक्ति लगभग हर क्षेत्रों में मिलते हैं; जैसे –

  • युद्ध के क्षेत्र में: जब युद्ध में उतरने वाले वीर सैनिक शत्रु से लड़ते हैं, तो अपने जान कि बाजी लगा देते हैं। युद्ध में न जाने कितने वीर शहीद हो जाते हैं। ज्यादातर लोगों को तो उनका नाम भी मालूम नहीं होता, बस नाम होता है तो अफसरों का या उनके अधिकारियों का।
  • शिक्षा के क्षेत्र में: एक विद्यालय का निर्माण शिक्षक ही करता है। बच्चों को पढ़ाकर काबिल बनाने का काम शिक्षक ही करते हैं, लेकिन प्रशंसा सिर्फ विद्यालय और प्रिंसिपल की होती है।
  • व्यापार के क्षेत्र में: कंपनी को खड़ा करने और बड़ा बनाने में उसके कर्मचारी दिन-रात एक कर देते हैं। उनकी कड़ी मेहनत की बदौलत ही कंपनी बुलंदियों को छूती है। लेकिन जब काम का श्रेय लेने की बात आती है, तो कंपनी के मालिक अकेले ही उसका श्रेय ले जाते हैं, कर्मचारियों को उनके हिस्से की तारीफ़ भी नसीब नहीं होती। 

संगतकार प्रश्न 3. संगतकार किन-किन रूपों में मुख्य गायक-गायिकाओं की मदद करते हैं?

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- संगतकार निम्न रूपों में मुख्य गायक-गायिकाओं की मदद करते हैं-

  • वो अपना सुर मुख्य गायक के सुर से नीचे रखते हैं।
  • जब मुख्य गायक ऊँचे सुर लगाते हैं, तो संगतकार स्थाई सुरों को पकड़े रखते हैं।
  • जब मुख्य गायक स्वर से भटक जाता है, तब संगतकार स्थाई स्वरों के द्वारा उसे वापिस सही लय में ले आते हैं।
  • वो मुख्य गायक को अकेला महसूस नहीं होने देते और हमेशा उसका साथ देते हैं।

संगतकार प्रश्न 4. भाव स्पष्ट कीजिए –

और उसकी आवाज़ में जो एक हिचक साफ़ सुनाई देती है

या अपने स्वर को ऊँचा न उठाने की जो कोशिश है उसे विफलता नहीं

उसकी मनुष्यता समझा जाना चाहिए।

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- प्रसंग – ये पंक्तियाँ कवि मंगलेश डबराल की कविता संगतकार का अंश हैं। 

भाव – इन पंक्तियों में कवि कहते हैं, संगतकार गायक का हर रूप से साथ देता है। जब गायक ऊँचे स्वर पर गा रहा होता है, तब वह स्थाई स्वर को पकड़ कर रखता है, ताकि अगर मुख्य गायक गाना गाते हुए अटके या सुर भूल जाए, तो संगतकार उसे संभाल सके। इसका मतलब ये नहीं है कि उसे गाना नहीं आता है, वो बस गायक की आवाज़ को दबाना नहीं चाहता, वो उसका साथ देना चाहता है। यहां कवि बताना चाहते हैं कि कई बार कुछ लोग हमसे ज्यादा कुशल होते हुए भी हमसे आगे जाने की कोशिश नहीं करते हैं। इसके बजाय वो हमें आगे बढ़ाने के प्रयास करते रहते हैं। सफल होने के बाद हमें ऐसे शुभचिंतकों को भूलना नहीं चाहिए। 

संगतकार प्रश्न 5. किसी भी क्षेत्र में प्रसिद्धि पाने वाले लोगों को अनेक लोग तरह-तरह से अपना योगदान देते हैं। कोई एक उदाहरण देकर इस कथन पर अपने विचारलिखिए।

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- यह बिल्कुल सत्य है कि किसी भी क्षेत्र में प्रसिद्धि पाने वाले लोगों को अनेक लोग तरह-तरह से योगदान देते हैं। जैसे बालक चन्द्रगुप्त एक सामान्य परिवार में जन्मे थे, लेकिन चाणक्य जी ने चन्द्रगुप्त के भीतर छिपी प्रतिभा को पहचाना और उन्हें शिक्षा देकर इस काबिल बनाया कि वह महान सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य बने, जिनका नाम इस सारे विश्व में लगभग हर कोई जानता है।

ऐसे ही तुलसीदास जी हिंदी साहित्य के क्षेत्र में बेहद प्रसिद्ध हैं। इनकी प्रतिभा को पहचाना इनके गुरु श्री हरिदास जी ने। उन्होंने तुलसीदास जी को शिक्षा-दीक्षा देकर इस काबिल बनाया कि उन्होंने रामचरित मानस जैसा महान ग्रंथ रच दिया। 

संगतकार प्रश्न 6. कभी-कभी तारसप्तक की ऊँचाई पर पहुँचकर मुख्य गायक का स्वर बिखरता नज़र आता है, उस समय संगतकार उसे बिखरने से बचा लेता है। इस कथन के आलोक में संगतकार की विशेष भूमिका को स्पष्ट कीजिए।

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- तारसप्तक में गाते समय जब गायक का स्वर बहुत ऊँचाई तक पहुँच जाता है, तब उसका दम फूल जाता है और वह उस स्वर को बनाए में असमर्थ हो जाता है। तब संगातकार उसके स्वर में अपना स्वर मिला देता है और उसकी आवाज टूटने से बचा लेता है। वह गाते समय उसका पूरा साथ देता है, जो कि मुख्य गायक के लिए बहुत जरूरी होता है। इसलिए यह कहना अनुचित नहीं होगा कि मुख्य गायक की कीर्ति में संगतकार का बहुत ही महत्पूर्ण योगदान होता है

संगतकार प्रश्न 7. सफलता के चरम शिखर पर पहुँचने के दौरान यदि व्यक्ति लड़खड़ाते हैं तब उसे सहयोगी किस तरह सँभालते हैं?

Class 10 Kshitij Solutions (उत्तर):- सफलता चरम शिखर पर पहुँच कर कई बार व्यक्ति लड़खड़ाने लग जाता है। कई बार वह अपने मन के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाता या किसी और बात से असंतुष्ट रहता है। ऐसे में उसके सहयोगी उसका मनोबल और आत्मविश्वास टूटने नहीं देते हैं। वो काम में जी-जान से उसका सहयोग करते हैं और उसकी ग़लतियाँ पहचान कर उन्हें सुधारने की दिशा में काम करते हैं। इस तरह उसके सहयोगी काम बिगड़ने नहीं देते हैं। साथ ही, वो उसमें जमकर आत्मविश्वास भरते हैं, जिससे कि वो अपने काम में सफल होता रहे।