अक्क महादेवी कविता प्रश्न-अभ्यास – Akka Mahadevi Poem Questions and Answers

Akka Mahadevi प्रश्न 1: लक्ष्य प्राप्ति में इंद्रियां बाधक होती हैं-  इस के संदर्भ में अपने तर्क दीजिए।

उत्तर- इंद्रिया अर्थात आँखें। यह बात बिल्कुल सत्य है कि लक्ष्य की प्राप्ति में इंद्रियां बंधक साबित हुई हैं। आंखों के माध्यम से हम संपूर्ण विश्व को देखते हैं। सुख- दुःख, मोह माया, सब इसी आंखों के कारण मनुष्य के मन में व्याप्त होता है। मनुष्य को अच्छे से भटकाने में इंद्रियां बहुत बड़ी भूमिका निभाती हैं।

Akka Mahadevi प्रश्न 2: ओ चराचर! मत चूक अवसर- इस पंक्ति का आशय स्पष्ट कीजिए।

उत्तर- चराचर का अर्थ है संसार। कविता के माध्यम से एवं इस पंक्ति के माध्यम से कवयित्री ने संसार के लोगों से यह आह्वान किया है कि ईश्वर की प्राप्ति के लिए जो भी अवसर उन्हें प्राप्त हुए हैं, उन्हें उसे स्वीकार कर लेना चाहिए।

Akka Mahadevi प्रश्न 3: ईश्वर के लिए किस दृष्टांत का प्रयोग किया गया है।  ईश्वर और उसके साम्य आधार बताइए।

उत्तर- जूही के फूल को दृष्टांत के रूप में प्रयोग किया गया है। जूही का फूल जितना पवित्र, सुगंधित एवं आनंद से भरपूर होता है। ठीक उसी प्रकार ईश्वर भी है- सुगंधित, पवित्र एवं‌ आनंद से भरपूर।

Akka Mahadevi प्रश्न 4: अपना घर से क्या तात्पर्य है? इसे भूलने की बात क्यों कही गई है?

उत्तर- यहां पर संसार को अपना घर बताया गया है। ईश्वर अपने इस संसार को भूलना चाहती है। कवयत्री भक्ति मार्ग में ही अपने जीवन को समर्पित कर देना चाहती है। कवयित्री कहती हैं कि जीवन में कुछ ऐसी परिस्थितियां आ जाए कि भीख मांगनी पड़े। भीख मांगने पर भी कुछ ना मिले। वह संसार के समस्त सुख एवं सुविधाओं से वंचित होकर एकल स्थान पर साधना करना चाहती है।

Akka Mahadevi प्रश्न 5: दूसरे वचन में ईश्वर से क्या कामना की गई है और क्यों?

उत्तर- दूसरे वजन में कवयत्री ईश्वर से प्रार्थना करते हुए कहती हैं कि उनका समस्त सुख कम हो जाएं। कवयत्री ऐसी परिस्थिति की कल्पना करती है, जो शायद वर्तमान में संभव नहीं है।

अक्क महादेवी अतरिक्त प्रश्न-अभ्यास – Akka Mahadevi Extra Questions and Answers

प्रश्न 1: कवयित्री किन आदतों का त्याग करना चाहती है?

उत्तर- कवयित्री अपने, भूख, नींद, प्यास, तड़प, क्रोध, मोह और इर्ष्या को त्यागना चाहती है l

प्रश्न : कवयित्री हर तरह के कष्ट क्यों उठाना चाहती है?

उत्तर- कवयित्री हर तरह के कष्ट उठाना चाहती है, क्योंकि वह संसार के लोभ, मोह, क्रोध, इर्ष्या से मुक्त हो और अपने अराध्य भगवान मल्लिकार्जुन (शिव) की आराधना में लीन हो सके l

प्रश्न 3: कवयित्री किसका संदेश लोगों तक भेजना चाहती है?

उत्तर- कवयित्री भगवान शिव का संदेश लोगों तक पहुंचाना चाहती है l

Tags:
akkamahadevi class 11 summary
akka mahadevi vachana
akkamahadevi class 11 question answer

akka mahadevi vachana summary